शर्म को कैसे छोड़ें?

अगर आपको बहुत सारे popular दोस्त बनाने है। तो इसके लिए उनके पास मत जाओ जिनके बारे में आप जानते हो की वो आपको reject कर देंगे। बल्कि उनके पास जाओ जो आपको आसानी से अपना लेंगे और फिर धीरे धीरे अपने दोस्त बड़ाओ। ये तरकीब आपका आत्मविश्वास भी बड़ा देगी और जीत ने कि क्षमता भी।


power of rejection

आपको पता है walt disney को उनके पहली animation के जॉब से निकाल दिया था। ये बोल कर की उनकी imagination उतनी अच्छी नहीं है। फिर उन्होंने अपना खुद का स्टूडियो खोला 1923 में जो दिवालिया है गया। फिर भी वो निराश नहीं हुए प्रपने भाई के साथ मिलकर एक ओर स्टूडियो खोला जो था Disney Bros. जो आज वर्ल्ड डिज़्नी कम्पनी के नाम से जाना जाता है।


पहले मैने आपको बताया था कि आपको पहले आसान लक्ष्य बनाने चाहिए। जिसमे faliur कम हो और success ज्यादा। लेकिन उस से भी ज्यादा फास्ट आप एक confidance इंसान बन सकते हो।

अगर आप रिजेक्शन से देने के बजाए उसे अपना लो तो। जिंदगी में रिजेक्शन आना साधारण सी बात है। आज नहीं तो कल आना ही है। लेकिन अगर आप उस से डरते रहोगे, उसे ग्रहण नहीं करोगे। तो कभी आगे नहीं बढ पाओगे।

सोचो अगर walt disney भी हार मानकर छोड़ देते सब कुछ तो आज हमारे पास मिकिमाउस ओर डोनाल्ड डक जैसे कार्टून चरित्र नहीं होते। इसलिए रिजेक्शन को सफलता कि पहली सीढ़ी बोला जाता है।

इनको भी जरूर पढ़ें :- आकर्षक कैसे बनें ?

दीपा मलिक की असाधारण कहानी, व्हील chair से।

Part time job

एक लड़का था राजू जिसकी height 5.11 फीट थी वो लंबा और हटा कटा था। परन्तु उस बहुत नर्वस और शर्म महसूस करता था। एक दिन उसके दोस्त का फोन आया। जो एक डिस्को का ऑनर था। उसने राजू को बताया कि उसका बाउंसर आज नहीं आया है, तो क्या वो एक दिन के लिए उसकी जगह आएगा। राजू मान गया और उस दिन के लिए बाउंसर बन गया। और अच्छी बात ये कि वो काम करते हुए उसे जरा भी शर्म नहीं आयी। क्योंकि तब लोग उसे एक बाउंसर की तरह देख रहे थे। फिर उसने कई बार बाउंसर बन के काम किया क्योंकि फिर उसे सहायता मिली अपनी शर्म को ख़तम करने में।


अन्दर के डर को जितना

जब इंसान शर्माता है तो उसका मुख्य कारण होता है, उसका डर। इस बात को लेकर, कि लोग उसे जज करेंगें उसकी निजी चीजों के लिए। इससे बचने का एक तरीका ये भी है कि एक part time नोकरी कर लो।

ऐसी नोकरी जिसमे ज्यादा आदमियों से आपको मिलना हो और बात करनी पड़े। आपको की ऐसे लोग दिखेंगे जो आज तो बिलिनियर है लेकिन उन्होंने कभी बहुत छोटे छोटे काम लिए है और उनसे सीखा है।


छोटी सोच मत रखो।

कोई भी काम छोटा या बड़ा नही होता है। बल्कि इसे काम शुरुआत में आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए बहुत अच्छे होते है। क्योंकि ऐसे छोटे कामों में कोई आपको आपकी सुंदरता या निजी चीज के लिए जज नहीं करेगा। जो कई बार शर्म का बहुत बड़ा कारण होता है।

आपने काम से प्यार करो। अगर एक कम्पनी का CEO भी अपने काम से नफ़रत करेगा तो उसे अच्छे से नहीं कर पाएगा। बल्कि एक माली भी अगर अपने काम को मन लगा के करेगा तो वो कई नई चीजें सीखेगा और अपने काम को अच्छे से करेगा।
हमेशा अपने काम की कीमत समझो ओर सकारात्मक सोचो।

क्या आप भावनात्मक या मनोवैज्ञनिक रूप Mature हैं?? तनाव मुक्त जिंदगी जीने के 15 तरीके।


काम और कुशलता

आपने देखा होगा कक्षा में अच्छे नंबर लाने के बाद भी कुछ बच्चे रोते है। जबकि कुछ बच्चे सिर्फ पास होकर भी खुश होते है पार्टी करते है। अब ध्यान दिन वाली बात ये है। की जो लोग सिर्फ पास होते है वो ही लोग टॉप कॉलेजों के टॉपरों को अपनी कम्पनी में नौकरी देते है। इसका कारण है कि ऐसे लोगों का आत्मविश्वास ज्यादा होता है। वो अपने काम ओर मेहनत की कीमत समझते है। जो उन्हे रुकने नहीं देता जबकि शर्मीले लोग अपने काम और नाम को कम आंकते है। जिससे उनका आत्मविश्वास हमेशा कम रहता है।


इसलिए अपनी कीमत को समझो। ओर जो भी काम आप करते हो उसे अच्छे से और अच्छे से करने की कोशिश करो। ताकि लोग भी बोलें ये काम इतना अच्छा तो सिर्फ आप ही कर सकते हो और कोई नहीं। हमेशा नए नए कौशल सीखते रहो। ये आप में आत्मविश्वास जगाएगा।


लक्ष्य उन्मुख दृष्टिकोण

अगर आप बाहर कहीं जा रहे हो तो ये सोच कर जाओ की आप कम से कम 5 मिनट तक किसी अनजान व्यक्ति से बातचीत करोगे। अगर आप ने ये लक्ष्य प्राप्त कर लिया तभी अपनी मनपसंद dish खाओगे नहीं तो नहीं। ऐसे ही आप उपर दिए गए सभी तरीको को प्राप्त करने की कोशिश कर सकते हो।

ये सब बातें मैने आपको एक किताब से बताई है जिसका नाम है Good bye to SHY आपको अगर और भी कुछ जानना है तो आप इस किताब को पढ सकते हो।

source:- GOOD BYE TO SHY BOOK

Thriving Boost
Thriving Boost
Articles: 82
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x