विस्मृत नायक खुदीराम बॉस

स्वतंत्रता आंदोलन के सबसे युवा नेताओं में से एक, खुदीराम बोस का उनकी निडर भावना के लिए बंगाल में बहुत सम्मान किया जाता है।  एक सदी बीत चुकी है, लेकिन आज भी यह नाम सुनते ही लोगों के रोंगटे खड़े हो जाते है।

फूल की सीख

“प्रिया गुप्ता” द्वारा रचित कविता “फूल की सीख”,रह कर कांटों के मध्य भी,ये नहीं कभी शोक मनाते हैं।महकते इसलिए सभी को भाते हैं।

प्रतीक्षा

“प्रिया गुप्ता” द्वारा रचित कविता “प्रतीक्षा”,इक अनकहा सा इंतजार होता है, हालातों में जहाँ। सब कुछ मुश्किल, अनिश्चित और दुश्वार होता है।।

आईना

“प्रिया गुप्ता” द्वारा रचित कविता “आईना”,आईना तो बस नज़र का धोखा हैं। नज़र वही आता हैं जो दिल में होता हैं।।

मासिक धर्म (Periods)

लगभग 42 करोड़ महिलाओं के अभी पीरियड्स चल रहें होगें और अगर ये सब की सब बिस्तर पकड़ के बैठ गई तो फिर चल ली दुनिया। तो ये ख्याल अपने दिल से निकल दो की औरतों के लिए आसान होता है।