बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना 2021

बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना 2021 के तहत, यदि आप आपकी बेटी के बैंक खाते में प्रति वर्ष 1.5 लाख, रुपये जमा करते है। तो आपकी बेटी के खाते में 14 साल तक 21 लाख रु जमा करोगे। 21 साल के बाद बैंक खाते के परिपक्व होने पर, आपकी बेटी को 72 लाख रुपये प्रदान किए जाएंगे।

बेटी बचाओ बेटी पढाओ (BBBP) योजना 22 जनवरी 2015 को पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई थी। इसका उद्देश्य गिरते हुए बाल लिंगानुपात मे सुधार करना। यह महिला और बाल विकास मंत्रालय, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा संयुक्त रूप से एक राष्ट्रीय पहल है।

इसकी जरूरत क्यों पड़ी?

0-6 वर्ष की आयु के बीच प्रति 1000 लड़कों पर लड़कियों की संख्या के लिंगानुपात में गिरावट 1961 के बाद से शुरू हुई है। 1991 में 945 से 927 तक गिरावट और 2011 में ये 918 तक आ गई थी। लिंगानुपात में ये कमी महिलाओं के बेरोजगारी का एक प्रमुख संकेत है।

चूंकि बालिकाओं के अस्तित्व, संरक्षण और सशक्तिकरण को सुनिश्चित करने के लिए समन्वित और अभिसरण प्रयासों की आवश्यकता थी। इसलिए सरकार ने बेटी बचाओ बेटी पढाओ पहल की घोषणा की है।

यह एक राष्ट्रीय अभियान के माध्यम से कार्यान्वित किया जा रहा है। सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में 100 जिलों को चुना गया। जहां लिंग अनुपात बहुत कम था।

उद्देश्य

  • शिक्षा और संपत्ति के वारिस के लिए लड़कियों के अधिकार का समर्थन करना।
  • चयनात्मक लिंग आधारित गर्भपात को रोकना। लैंगिक मानदंडों को चुनौती देना और लैंगिक समानता को बढ़ावा देना।।
  • बालिकाओं का अस्तित्व, सुरक्षा, शिक्षा, स्वस्थ, सुरक्षित वातावरण और सहभागिता सुनिश्चित करना।

योजना को सफल बनाने के लिए रणनीति

BBBP के अंतर्गत कई रणनीतियों पे काम किया गया। जिनसे लिंगनुपात मे सुधार किया जा सकता है। जैसे कि बड़े पैमाने पर उन जिलों पर ध्यान केंद्रित किया गया। जहां लिंग अनुपात बहुत कम था।

उन शहरों मे लोगों को इकट्ठा करके जागृत किया गया। जहां कम लिंग अनुपात था। तेजी से जागरूकता और सुधार के उद्देश्य से बाल लिंग अनुपात में गिरावट के मुद्दे पर बातचीत और चर्चाएं की गई।

स्थानीय आवश्यकता और संवेदनशीलता के अनुसार बेटी बचाओ बेटी पढाओ के उत्थान के लिए नवीन तकनीकों को लागू किया गया। बालिकाओं के विकास और शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए संचार अभियान शुरू किये गए।

ये भी पढ़ें:

विस्तार कैसे किया गया?

इस योजना का विस्तार तीन चरणों मे किया गया।

क)   पहले चरण मे बेटी बचाओ बेटी पढाओ, के अंतर्गत 100 चयनित जिलों में जहां लिंगनुपात कम है। उन पर ध्यान केंद्रित किया गया। इन जिलों को सभी राज्यों और केंद्रशाषित प्रदेशों में से जनगणना 2011 के आधार पर चुना गया है। जिनमे से :

  • 87 जिले / 23 राज्यों में से जो राष्ट्रीय औसत से नीचे वाले है।
  • 08 जिले / 8 राज्य में से जो औसत से ऊपर हैं, लेकिन उनमे गिरावट दर्ज की गई है।
  • 5 जिले / 5 राज्य में से जो औसत से ऊपर हैं और उनमे बड़त दर्ज की गई है।

ख)    दूसरे चरण मे 100 चयनित जिलों के अलावा इस कार्यक्रम को आगे ले जाने के लिए, 11 राज्यों और केंद्रशाषित प्रदेशों में से 61 अतिरिक्त जिलों का चयन किया गया है।  जिनमे 918 से कम बाल लिंग अनुपात है।

ग)   तीसरा चरण जो 8 मार्च 2018 को शुरू हुआ के अंतर्गत BBBP ने पैन इंडिया एक्सपेंशन को लॉन्च किया गया।  जिसके अंतर्गत जनगणना 2011 के अनुसार सभी 640 जिलों को लिया गया है।

किन लोगों पर ज्यादा ध्यान केंद्रित किया गया?

यह निश्चित है कि बेटी बचाओ बेटी पढाओ एक पहल है,जो पूरे देश को लक्षित करती है। हालांकि, पहुंच को आसान बनाने के लिए, BBBP के लिए लक्षित दर्शकों के संबंध में तीन वर्गीकरण किए गए हैं। जो इस तरह है:

1. प्राथमिक समूह: जिसमें युवा और विवाहित जोड़े, गर्भवती माताएं और माता-पिता शामिल हैं।

2. माध्यमिक समूह: इसमे देश के युवाओं को , डॉक्टर, निजी अस्पताल, नर्सिंग होम, डायग्नोस्टिक सेंटर इत्यादि को शामिल किया गया।

3. तृतीयक समूह: देश के सामान्य लोगों सहित, फ्रंटलाइन कार्यकर्ता, अधिकारी, धार्मिक नेता, स्वैच्छिक संगठन, मीडिया और महिला एसपीजी आदि हैं।

आपको बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना की पात्रता कैसे मिलेगी?

इसके लिए निम्नलिखित शर्तों को पूरा करना होगा:-

  • परिवार में 10 साल से कम उम्र की लड़की होनी चाहिए।
  • आपकी लड़की के नाम पर किसी भी बैंक में सुकन्या समृद्धि खाता (एसएसए) होना चाहिए।
  • बालिका भारतीय होनी चाहिए। अप्रवासी भारतीय इस योजना के लिए पात्र नहीं हैं।

कुछ क्षेत्रीय अभियान

इस योजना के तहत, कई राज्यों ने बहु-क्षेत्रीय जिला कार्य योजनाओं जैसे क्षमता-निर्माण कार्यक्रमों और प्रशिक्षण सत्रों का संचालन किया है। ये प्रशिक्षण जिला स्तर के अधिकारियों और फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं को आगे की कार्रवाई के लिए सुसज्जित करते हैं।

BBBP के समर्थन में की गई कुछ स्थानीय पहल इस प्रकार हैं:

पिथौरागढ़ जिले में-

  • मोटे तौर पर यहाँ जिला बल और ब्लॉक बल के नाम से दो कार्य बल बनाए गए हैं। ये बल, साथ में, बाल लिंग अनुपात के संदर्भ में विकास के लिए स्पष्ट रूप से रोड मैप बनाने और व्यवस्थित करने के लिए काम कर रहे हैं।
  • व्यापक पहुंच के लिए जागरूकता पैदा करने वाली गतिविधियाँ और योजनाएँ चलाई गई हैं।
  • बेटी बचाओ बेटी पढाओ के बारे में अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करने के लिए हस्ताक्षर अभियान, नाटक, शपथ समारोह आदि प्रस्तुत किये जाते है।

मानसा, पंजाब में-

लड़कियों को प्रोत्साहित करने और उनकी शिक्षा को आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित करने के लिए इस क्षेत्र में कई पहल की गई हैं। जैसे कि छठी से बारहवीं कक्षा की लड़कियों के लिए ‘उडान-सुपनेया दी दुनीया दे रबरू’ के नाम से एक उप-योजना शुरू की गई है। जिसके तहत उन्हें डॉक्टर्स, इंजीनियर्स, आईएएस जैसे पेशेवरों के साथ एक दिन बिताने का अवसर मिलता है।

राष्ट्रीय मीडिया अभियान-

बालिका के जन्म का जश्न मनाने और शिक्षा के लिए प्रगतिशील सुधारों को सक्षम करने के लिए, एक देशव्यापी अभियान शुरू किया गया। लड़कियों के लिए उचित शिक्षा की उपलब्धता और स्वास्थ्य संबंधी सुधारों पर बल दिया गया। देश का सशक्त नागरिक वही कहलाएगा जो बिना लैंगिक भेदभाव के सभी को समान रूप से देखेगा ।

ये भी पढ़ें :

आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • जन्म प्रमाण पत्र अस्पताल या किसी मान्यता प्राप्त सरकारी निकाय द्वारा जारी किया गया हो।
  • माता-पिता की पहचान का प्रमाण- आधार कार्ड, राशन कार्ड, आदि।
  • स्थायी पते का प्रमाण- पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, उपयोगिता बिल जैसे पानी, टेलीफोन, बिजली आदि का ।
  • पासपोर्ट के आकार की तस्वीर।

BBBP योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

बेटी बचाओ बेटी पढाओ लाभ के तहत नामांकित करने के लिए दिए गए चरणों का पालन करें:

  • अपने नजदीकी बैंक या पोस्ट ऑफिस में जाएं।
  • बीबीबीपी / एसएसए के लिए आवेदन करने के लिए form मांगे। फिर दिए गए निर्देशनुसार मांगी गई जानकारी भरें। सभी जरूरी दस्तावेजों को साथ मे लगाएं । दस्तावेजों को उसी बैंक / डाकघर में जमा करें। खाता आपकी लड़की के नाम पर खोला जाएगा।

नोट: इस खाते को एक बैंक / डाकघर के खाते से दूसरे बैंक / डाकघर के खाते में आसानी से स्थानांतरित किया जा सकता है।

बेटी बचाओ बेटी पढाओ के तहत शुरू की गई विभिन्न योजनाएं।

विभिन्न अभियानों, जागरूकता कार्यक्रमों और सुधारों के निर्माण के अलावा, ओर कई योजनाएं हैं। जिनमें से प्रत्येक महिला और बालिका के उत्थान, सशक्तिकरण और कल्याण पर केंद्रित है।

  • सुकन्या समृद्धि योजना
  • बालिका समृद्धि योजना
  • लाडली योजना
  • कन्याश्री प्रचार योजना
  • धनलक्ष्मी योजना
  • लाड़ली लक्ष्मी योजना

इस योजना से समाज का क्या उत्थान होगा?

यह योजना न केवल बालिकाओं के लिए बल्कि पूरे समाज के लिए लाभकारी है। बेटी बचाओ बेटी पढाओ के तहत सुरक्षा सुधारों को बढ़ाने के लिए सरकार ने 150 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किए हैं।

आज महिलाओं और बालिकाओं के प्रति दृष्टिकोण को बदलने के लिए पूरे समाज को एकजुट होने की जरूरत है। समान आदर्शों के बाद, सभी क्षेत्रों के लिए समान सुविधाओं पर स्वस्थ लिंग अनुपात, उपलब्धता को बनाए रखने के लिए विभिन्न योजनाएं भी शुरू की गई हैं।

ये भी पढ़ें:

बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना से होने वाले प्रमुख लाभ।

बैंक खाते में हर महीने 1000 रुपये जमा करने पर।

BBBP Yojana 2021 के तहत, यदि आप अपनी बेटी के बैंक खाते में प्रति माह 1000 रुपये या साल के 12000 रुपये जमा करते हैं। तो आप 14 वर्षों में कुल 1 लाख 68 हजार रुपये जमा करेंगे।

21 साल के बाद बैंक खाते के परिपक्व होने के बाद, आपकी बेटी को 6, 07, 128 रुपये की राशि प्रदान की जाएगी। आप 50% धन राशि आपकी बेटी के 18 बर्ष पूरे होने पर भी ले सकते है।

खाते में प्रति वर्ष 1.5 लाख रुपये जमा करने पर।

बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना 2021 के तहत, यदि आप आपकी बेटी के बैंक खाते में प्रति वर्ष 1.5 लाख, रुपये जमा करते है। तो आपकी बेटी के खाते में 14 साल तक 21 लाख रु जमा करोगे। 21 साल के बाद आपकी बेटी को 72 लाख रुपये प्रदान किए जाएंगे।

ध्यान दें !

ये भी सामने आया है कि, कुछ अनधिकृत साइटें / संगठन / एनजीओ बीबीबीपी के नाम पर चंदा एकत्र कर रहे हैं। इस योजना में दान के संग्रह का कोई प्रावधान नहीं है। कृपया ऐसी अपीलों के जवाब में कोई योगदान न करें। किसी भी तरह का खाता खोलने पर कोई भी पैसा नहीं लिया जाएगा मानसिक किश्त के अलावा।

विभिन्न स्तरों पर योजना के कार्यान्वयन के लिए प्रशासनिक ढांचा।

BBBP ADMINISTRATION
BBBP ADMINISTRATION

दोस्तों ये थी बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के संधर्व मे पूर्ण जानकारी। Online Registration होता है या नहीं, इसके बारें मे हम अभी जानकारी इकट्ठा कर रहे है। जैसे ही हम स्पष्ट हो जाएंगे। हम आप तक जानकारी पहुँचा देंगे। अगर आपको इसके बारे मे और कोई सहायता चाहिए। तो आप हमारे साथ संपर्क कर सकते है। हम आपको पूरी मुफ़्त सहायता का आश्वाशन देते है। इसके अलावा आपको कोई दूसरी जानकारी भी चाहिए, तो आप हम से संपर्क कर सकते है।

संपर्क :

  • मोबाईल नंबर/ WhatsApp :- 9531923032
  • ईमेल id :- thrivingboost@gmail.com

सभी जानकारियों के हमारी वेबसाईट को subscribe करें। ताकि हम जल्द से जल्द आपके पास पहुँच सकें।