सैनिकों के लिए अच्छी खबर है Delhi Government

sainik

सेना के जवानों के लिए एक बहुत बड़ी खुशखरी है। अगर देश के किसी राज्य का एक मुख्यमंत्री ऐसा कर सकता है तो फिर बाकी राज्यों में ऐसा क्यों नहीं हो सकता। जवानों को अगर इतना सम्मान हर राज्य देने लग जाए तो देश पे कुर्बान होने के लिए 100 जन्म भी कम है।

शहीद सैनिकों को 1करोड़

हां जी में बात करने जा रहा हूं दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरवाल जी की। जिन्होंने हाल ही में घोषणा कि है कि अब अगर दिल्ली का रहने वाला कोई भी सैनिक सीमा पर शहीद होगा। तो सम्मान के रूप में दिल्ली सरकार उनके परिवार को शहादत के बाद 1 करोड़ रुपए की धनराशि देगी ओर उसके परिवार से एक व्यक्ति को सरकार में नौकरी देगी।

उनका कहना है कि इसे हम मुआवजा नहीं कहेंगे जिसका मतलब होता है किम्मत लगाना क्योंकि सैनिकों की शहादत की किम्मत हम नहीं लगा सकते हम उस काबिल नहीं है। हम सिर्फ उन्हे सम्मान दे सकते है।

केजरीवाल जी ने ये भी कहा कि ये सिर्फ घोषणा नहीं है उनकी सरकार ने पिछले पांच साल में जितने भी दिल्ली के सैनिक शहीद हुए है उन सभी को ये धनराशि दी भी है। ये धनराशि उन्होंने उनके घरों में जा जा कर दी है और उनका सम्मान किया है।

पूर्व सैनिकों की नियुक्ति

साथ मे दिल्ली सरकार ने ये भी घोषणा की स्कूलों में प्रिंसिपल के साथ एक state Manager भी रहेगा। प्रिंसिपल सिर्फ पढ़ाई के काम देखेगा और स्टेट मैनेजर बाकी के काम देखेगा और ये स्टेट मैनेजर के पदों पर भी दिल्ली सरकार ने सभी पूर्व सैनिकों को रखा है। क्योंकि एक सैनिक के बराबर अनुशासन शायद ही किसी में होता है!

एक सैनिक की देखरेख में एक स्कूल एक अच्छा और अनुशासित स्कूल बन सकता है। आप ने न्यूज में भी बहुत सुना होगा कि दिल्ली के स्कूल पहले से काफी बेहतर हो गए, तो आज जो दिल्ली के स्कूलों की हालत सुधरी है उसमे सब पूर्व सैनिकों का योगदान है।

शायद आप लोगों तक अभी तक ये बात नहीं पहुंची हो क्योंकि ये बिकाऊ मीडिया सिर्फ ओर सिर्फ वो ही दिखता है जिसके उसे पैसे मिलते है। लेकिन सैनिकों के लिए जो काम केजरीवाल जी ने किया है शायद ही किसी नेता ने किया होगा।

आप की राय

आप की इस पर क्या राय है? हमें जरूर लिखें और ज्यादा से ज्यादा शेयर करें. ताकि बाकी राज्यों के सोए हुए नेताओं के पास भी ये पहुंचे और वो भी जाग जाएं। अगर देश को बचाना है इन भ्रष्टाचारियों से और रिश्वत खोरियों से तो सैनिकों को सम्मान देना ही होगा।
अगर एक सैनिक अपने देश के लिए जान दे सकता है, तो वो कुछ भी कर सकता है।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments