क्या कमला हैरिस सच में भारतीय मूल की हैं??

us vice president

अमेरिकन राष्ट्रपति चुनाव 2020 खत्म हो चुके है। डेमोक्रेट्स पार्टी के Mr. Joe Biden  अमेरिका के 46वे राष्ट्रपति होंगे। लेकिन इसी के साथ में  एक और बेहतरीन खबर ये है कि डेमोक्रेट्स पार्टी की ही उपराष्ट्रपति पद की दावेदार Miss Kamala Harris भी जीत गई है। वो पहली भारतीय मूल की महिला है जो अमेरिका में उपराष्ट्रपति बनी है। ये ना सिर्फ भारतीयों के लिए बल्कि दुनिया भर की महिलाओं के लिए गौरव की बात है।

तो हम इस ब्लॉग हम आपको बताएंगे कि क्या वो सच मे भारतीय मूल की हैं? उन्होंने क्या क्या रिकॉर्ड बनाए है और कमला हैरिस का indo US relation में क्या योगदान होने वाला है।

क्या कमला हैरिस सच में भारतीय मूल की हैं??

ये कहना तो बिल्कुल ज़ल्दबाज़ी होगी कि वो सिर्फ भारतीय मूल की हैं। सवाल तो आपके दिमाग में भी आता होगा। क्योंकि कमला हैरिस भारत और जमैका से आए प्रवासी माता पिता की बेटी है।

हां इनकी मां भारत से थी और उन्होंने पूरी कोशिश की अपनी बेटियों को भारत से जोड़ने की, वो बचपन में उन्हे भारत लेकर आती और यहां की संस्कृति से रूबरू करवाती थी।

चूंकि जब हैरिस 7 साल की थी तो उनके माता पिता का तलाक हो गया था और इन्होंने अपनी ज्यादातर जिंदगी अपनी मां के साथ बिताई, जो कि भारत के बहुत क़रीब थी। उनके द्वारा दिए गए मूल्य ओर सभ्याचर की बदौलत आज कमला हैरिस इस मुकाम पे पहुंची है जिनमे कहीं ना कहीं भारतीय मूल्यों का भी काफी योगदान रहा है तो हम कह सकते है कि कमला हैरिस भारतीय मूल की अमेरिकन है।

कमला हैरिस

इनका जन्म 20 अक्तूबर 1964 को कैलिफोर्निया में हुआ। उनको बचपन से है लोकतंत्र में रुचि थी। कमला हैरिस को उनकी बुलंद आवाज़ के लिए जाना जाता है।
जब कमला 7 वर्ष की थी तो उनके माता पिता का तलाक हो गया था। इनकी माता का नाम शामला गोपालन तथा पिता का नाम डोनाल जे हेरिस है।

चुनाव से मात्र 2 दिन पहले की खबर है। कमला हैरिस भारत में जिस गांव (थुलास्पेंधर्म तमिलनाडु में है।)से belong करती थी वहां पर क्यों सारे भारतीय उनके लिए पूजा कर रहे थे उनके जितने कि दुआ कर रहे थे।

कमला हैरिस ने क्या क्या रिकॉर्ड बनाए है??

1. ये अमेरिका की पहली महिला उपराष्ट्रपति बनी हैं।
2.  ये पहली अश्वेत महिला और अफ़्रीकन अमेरिकन महिला है जो उपराष्ट्रपति बनी है अमेरिका में। अफ़्रीकन इसलिए क्योंकि इनके पिता अफ़्रीकन थे, वो जमैका के थे।
3. ये पहली भारतीय कूल की पहली स्खसियत है, जो अमेरिका में किसी राष्ट्रीय कार्यालय को चलाएंगी।
4. इससे पहले भी वो सेंफ्रांसिस्को की जिला अटॉर्नी भी रह चुकी है और ये करनामा करने वाली भी वो पहली अफ़्रीकन अमेरिकन, पहली भारतीयों मूल की और पहली महिला थी।

चुनाव प्रसार के दौरान कई बार कमला हैरिस बताती है कि जब वो छोटी थी तो उनकी मां उनको और उनकी बहन माया को चेन्नई ले कर जाती थी। जिससे इन दोनों को इनके पीछे की पूरी जानकारी हो की ये कहा से आयी हैं और इनके पूर्वजों की संस्कृति कैसी है। उनके इन्हीं विचारों से कई अमेरिकन इंडियन उन से जुड़े और अन्त में वो विजय हुई।

20 जनवरी 2021 को ये शपथ ग्रहण करेंगी और माना जाता है कि इनसे कई अश्वेत लोगों को और महिलाओं को अमेरिकन राजनीति में आने के लिए प्रेरणा मिलेगी।

कमला हैरिस की जीत से भारत को क्या फायदा हो सकता है??

हम जानते है कि कमला हैरिस भारत अमेरिकन community की है। तो जब से इनको इस पद के लिए चुना गया था तब से ही भारतीय अमेरिकन community बहुत ज्यादा खुश थी। लगभग 45 लाख लोग अमेरिका में भारतीय अमेरिकन community से सम्बन्ध रखते है। अब ये सब लोग एक साथ है तो जाहिर सी बात है भारत का पक्ष मजबूत हुआ है अमेरिका में। हैरिस की जीत से भारतीय अमेरिकन जो राजनीति से जुड़े है उनमें भी खासा जोश देखने को मिला है।

आगे के प्लान के बारे में बात करें तो कमला हैरिस कहती है कि

  • हमे COVID जैसी महामारी को जड़ से खत्म करने पर काम करना है।
  • अपनी अर्थवयवस्था को फिर से बापिस पटरी पर लाना है।
  • अमरीका में फैल रहे रंगभेद और नस्लवाद  को खत्म करना है और समाज में आपसी मेलजोल को बढावा देना है।
  • पर्यावरण के मुद्दों पर ध्यान देना है और देश की आत्मा के घाव भरने है।

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments