देशभक्ति कविता प्रतियोगिता, जी नागेश्वरी

असंख्य लोगों के त्याग और बलिदान के कारण 15अगस्त 1947 ई0 को भारत आजाद हुआ। ऐसे ही एक स्वतंत्रता सेनानी भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेन्द्र प्रसाद को याद करते हुए एक छोटी सी कविता सपर्पित करती हुँ।

हिन्दी कविता प्रतियोगिता की प्रतिभागी "जी नागेश्वरी "

15 अगस्त के उपलक्ष पर देशभक्ति कविता प्रतियोगिता चल रही है। जिसमे "जी नागेश्वरी" जी ने स्वरचित कविता "डॉ राजेन्द्र प्रसाद" के माध्यम से भाग लिया है।
अगर आप भी अपनी प्रतिभा दिखाना चाहते है तो आपका स्वागत है। ये प्रतियोगिता निशुल्क है। विजेताओं को इनाम और गिफ्ट दिए जाएंगे। भाग लेने के लिए नीचे दिए गए बटन पे क्लिक करें।

डॉ राजेन्द्र प्रसाद

पराधीनता के ज़ंजीरों से ,

किया भारत माता को आज़ाद ।

शीश झुकाकर करते रहेंगे सदैव याद,

उन अनगिनत योद्धाओं को जिसने दी अपनी क़ुर्बानी।

हैं एक योद्धा डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद उनमें ,

लिया जन्म बिहार के सिवान ज़िले में,

थे बचपन से ही बुद्धिमान और होनहार,

मिली  स्वर्ण पदक शिक्षा के क्षेत्र में ।

होकर प्रेरित  बने गांधी के अनुयायी

छोड़ परिवार को बने देश के पुजारी।

सरलता,सादगी सा था उनका जीवन,

थे आज़ाद भारत के प्रथम राष्ट्रपति ।

दिया शिक्षा के विकास पर  जोर,

मिली उनकों भारत रत्न की उपाधि ।

गणतंत्र भारत का आकार,

थे देने में एक वास्तुकार।

लिया फैसला दिया इस्तीफ़ा पद को,

चले,जनसेवा में समर्पित करने को।

चुना पटना के सदाकत आश्राम,

और लिए अपना वहाँ साँस अंतिम।

फ़रवरी २८ ,१९६३ का दिन था,

 खोया भारत और बिहार एक अनमोल हीरा को।

चट्टान सदृश्य आदर्श सपुत था,

भारत के थे प्रतीक,शत शत नमन  हैं,उस वीर कों।

       🙏🏼जय हिन्द जय भारत 🙏🏼

 *स्वरचित  –   जी नागेश्वरी
उम्र (Age) – 60
पेशा  – सेवा निवृत शिक्षिका ( झारखण्ड, जमशेदपुर )

15 Aug online हिन्दी कविता प्रतियोगिता 2021

15 Aug के मौके पर Thriving Boost एक साथ दो कविता प्रतियोगिताएं आयोजित करने जा रहा है। प्रतियोगिताएं सभी के लिए खुली है। कोई आयु प्रतिबंध नहीं है।

15 Aug कविता प्रतियोगिताएं

15 Aug के मौके पर Thriving Boost एक साथ दो कविता प्रतियोगिताएं आयोजित करने जा रहा है। प्रतियोगिताएं सभी के लिए खुली है। कोई आयु प्रतिबंध नहीं है।

यह प्रतियोगिताएं 15 अगस्त जानी की “स्वतंत्रता दिवस” के उपलक्ष पर आयोजित की जा रही है। इस अवसर को प्रतिवर्ष मनाने से देश के युवाओं और बच्चों को इस महान राष्ट्र की एकता और अखंडता के महत्व के बारे में पता चलता है और सभी को समृद्ध और विविध विरासत के साथ संपन्न राष्ट्र पर गर्व करने का अवसर मिलता है।

कविता प्रतियोगिताएं इस प्रकार से हैं:

  1. ऑनलाइन कविता पाठन प्रतियोगिता।
  2. ऑनलाइन कविता लेखन प्रतियोगिता।

आपको नीचे दिए गए विषयों में से किसी एक विषय पर कविता लिखनी होगी और Thriving Boost को भेजनी होगी। इस तरह से आप कविता लेखन प्रतियोगिता में भाग ले सकते हो।

अगर आप कविता पाठन प्रतियोगिता में भाग लेना चाहते हो तो आपको अपनी लिखी हुई कविता का पाठन करते हुए हमे video भेजनी होगी। दोनों कविता प्रतियोगिताओं के विषय वही रहेंगे। प्रतिभागी किसी भी प्रतियोगिता में हिस्सा ले सकते है और एक ही कविता के साथ दोनों प्रतियोगिताओं में भी हिस्सा ले सकते है।  

विषय

  • स्वतंत्रता संग्राम।
  • भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के योद्धा।
  • स्वतंत्रता दिवस मनाने का सही अर्थ क्या है?

दिशा निर्देश

  • यह प्रतियोगिता केवल हिंदी भाषा में ही है।
  • इस प्रतियोगिता के लिए कोई प्रवेश शुल्क नहीं है।
  • कविता से पहले 2-3 पंक्तियों में ये सुनिश्चित करें कि यह विषय से कैसे संबंधित है।
  • कविताओं में अश्लील भाषा या कोई अभद्र भाषा नहीं होनी चाहिए। ऐसी भाषा का प्रयोग आपको प्रतियोगिता से निष्कासित कर देगा। 
  • कविता आपकी अपनी कृति होनी चाहिए। किसी दूसरे की चुराई गई कविता को भी रद्द कर दिया जाएगा। 
  • कविता पाठन की Video और लिखित कविता भेजने की अंतिम तिथि 12 Aug 21 है। परिणाम 19 Aug 21 को घोषित किये जाएंगे।
  • ध्यान रहे Video में Background Music अनिवार्य नहीं है।
  • Video mobile या कैमरा को landscape रख कर बनाएं।
  • दोनों प्रतियोगिताओं में इस बार प्रतिभागियों को भी बेस्ट कविता चुनने के लिए वोट डालने का अवसर दिया जाएगा। ये वोटिंग 16 Aug को होगी। सभी प्रतिभागियों को 2 बेहतर कविताओं के लिए वोट करना होगा। जिसका लिंक आप के पास 15 Aug को पहुँच जाएगा। सभी प्रतिभागियों को वोटिंग करना अनिवार्य है।
  • प्रत्येक श्रेणी के परिणामों पर विचार करने के लिए न्यूनतम 20 प्रतिभागियों की आवश्यकता है। अन्यथा परिणाम घोषित नहीं किया जाएगा।

प्रतियोगिता के लिए कविता कैसे भेजें ?

कविता लेखन प्रतियोगिता के लिए आप अपनी कविता हमे हमें ईमेल, WhatsApp और नीचे दिए लिंक के माध्यम से भेज सकते है।

कविता पाठन प्रतियोगिता के लिए आप विडिओ WhatsApp और Email से भेज सकते हैं।

नोट : WhatsApp से अगर आप video को document के रूप मे और ईमेल से अगर zip file बना कर भेजोगे तो हम तक विडिओ की अच्छी quality पहुंचेगी।

ईनाम

आप के पास नि:शुल्क मौका है नकद 2000 रुपये तक इनामी राशी, gift और प्रमाण पत्र जीतने का! आप सभी अपनी कविता और कविता पाठन वाली video हमें भेज कर इन प्रतियोगिताओं का हिस्सा बन सकते है। विजेताओं के अलावा निर्णायक मण्डल 10 कविताएं चुनेगें जिन्हे Thriving Boost की बार्षिक पत्रिका में स्थान मिलेगा। दोनों प्रतियोगिताओं की Minimum इनामी राशी नीचे डिब्बे मे दी गई है। 100 से ज्यादा प्रतिभागी होने पर इनाम राशी बड़ा दी जाएगी।

हिन्दी कविता पाठन प्रतियोगिता इनाम हिन्दी कविता लेखन प्रतियोगिता इनाम
प्रथम 1000/- प्रथम 500/-
दूसरा 500/- दूसरा 250/-
तीसरा 250/- तीसरा 150/-
सभी प्रतिभागियों को ई-प्रमाण पत्र मिलेंगे।

जीत के मानदंड

कविता लेखन प्रतियोगिता

आपकी कविता पर Thriving Boost website पर कम से कम 20 Comments और 200 views  के होने पर ही कविता मानदंड के तहत आएगी। अधिक टिप्पणियां आपको अंतिम परिणाम में लाभान्वित कर सकती हैं।

काव्य तकनीक, प्रभावशीलता, शैली, रचनात्मकता और कुल कितने वोट मिले। ये जीत के मुख्य मानदंड है।

कविता पाठन प्रतियोगिता

आपकी video पर YouTube चैनल पर 16 Aug 2021 तक कम से कम 25 Comments  और 500 view होने पर ही कविता मानदंड के तहत आएगी। अधिक comments और views आपको अंतिम परिणाम में लाभान्वित कर सकती हैं।

काव्य पाठन तकनीक, प्रभावशीलता, शैली और रचनात्मकता और कुल वोट ये जीत के मुख्य मानदंड है।

YouTube पर 16 Aug 21 तक 3 सबसे ज्यादा views प्राप्त करने वाली 3 videos को Thriving Boost की तरफ से उपहार दिए जाएंगे (नोट: लेकिन views 1000 से ज्यादा होने चाहिए)। 

हमें क्या चाहिये?

1.     अगर आप कविता लेखन प्रतियोगिता में हिस्सा ले रहे हो तो आपकी लिखी हुई कविता। अगर कविता पाठन प्रतियोगिता में हिस्सा ले रहे हो तो कविता पाठन की Video. यदि आप दोनों प्रतियोगिताओं में हिस्सा ले रहे हो तो आपको दोनों भेजने होंगे।

2. आपकी व्यक्तिगत जानकारी जिसमें:

नाम(Name)

उम्र (Age)

पेशा(Your Profession)

डाक पता(Postal Address)

ईमेल आईडी(Email Id) या WhatsApp नंबर(Mobile No.)।

कॉपीराइट

प्रत्येक प्रविष्टि का कॉपीराइट लेखक और Thriving Boost के पास रहता है। थ्राइविंग बूस्ट के पास प्रविष्टियों को प्रकाशित करने का अधिकार है।

सभी विजेताओं को डाक मेल, ईमेल या टेलीफोन द्वारा सूचित किया जाएगा। सभी प्रविष्टियां, कवि/लेखक, उनके नाम और संक्षिप्त जीवनी संबंधी जानकारी Thriving Boost की वेबसाइट और YouTube चैनल पर प्रकाशित की जाएगी।

Father’s Day कविता प्रतियोगिता का “परिणाम”

आप ऐसे ही आगे आने वाली प्रतियोगिताओं मे भाग लेते रहें। Thriving Boost आपकी आपकी लग्न और प्रतिभा पर लगातार अवलोकन करता है।

Father’s Day कविता पाठन प्रतियोगिता

Father’s Day 2021 के उपलक्ष पर Thriving Boost ने एक online कविता पाठन प्रतियोगिता का आयोजन किया था। जिसको बहुत सराहा गया। कोरोना महामारी के इस काल में ये एक बहुत ही अच्छा तरीका था पिता दिवस को मनाने का और अपने दिल की बात को अपने पिता तक पहुंचाने का। हमारी पूरी टीम आप सब का तहे  दिल से धन्यवाद करती है। आप के सहयोग से ही ये प्रतियोगिता सफल हो पाई है। सभी प्रतिभागियों ने उम्दा प्रस्तुति पेश की है लेकिन ये निर्णायक मण्डल की मजबूरी है की उन्हे सिर्फ 3 को ही चुनना था। आप ऐसे ही आगे आने वाली प्रतियोगिताओं मे भाग लेते रहें। Thriving Boost आपकी आपकी लग्न और प्रतिभा पर लगातार अवलोकन करता है। आपको आगे मौका जरूर मिलेगा।

परिणाम

हम सभी प्रतिभागियों को भाग लेने और प्रतियोगिता को सफल बनाने के लिए बधाई देते हैं। प्रतियोगिता में इंतजार की घड़ियाँ अब समाप्त होती है, अब बारी है परिणाम की।

प्रतियोगिता” के विजेताओं की सूची नीचे देखें:

प्रथम स्थान प्राप्त किया है।

फूल सिंह  

हिन्दी कविता प्रतियोगिता

फूल सिंह

पता- शकरपुर, दिल्ली

व्यवसास- सहायक विभाग अफसर

शिक्षा- एम-ए (इतिहास), एम ए (प्रशासनिक)

प्रकाशित पुस्तक- जीवन दर्शन, वक्त और बदलते परिवेश, नारी एक प्रेरणा स्रोत, युगांतर आदि

दूसरा स्थान प्राप्त किया है

शालिनी शर्मा  

हिन्दी कविता प्रतियोगिता के प्रतिभागी

शालिनी शर्मा”स्वर्णिम”

पता – इटावा,उत्तर प्रदेश

उम्र-40 साल

पेशा- लेखन कार्य

तीसरा स्थान प्राप्त किया है।

सुनील कुमार

हिन्दी कविता प्रतियोगिता के प्रतिभागी

सुनील कुमार

उम्र – 39 वर्ष

शिक्षा- एम.एस-सी.,एम.एड.

व्यवसाय- अध्यापन

पता- बहराइच,उत्तर प्रदेश।

कविता जो Thriving Boost की वार्षिक पत्रिका के लिए चुनी गई है।

उपासना थापा

शाम्भवी टण्डन

शालिनी शर्मा

अनुज गुप्ता

सभी विजेताओं को बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं।

हमारी टीम धन्यवाद करना चाहती है दो छोटी बालिकाओं शाम्भवी टण्डन  और Yatishree Raghuvanshi का जिन्होंने ग्रुप A में बहुत ही उम्दा प्रदर्शन किया है।

father's Day competitions
Yatishree Raghuvanshi
हिन्दी कविता प्रतियोगिता
शाम्भवी टण्डन

सिर्फ दो ही प्रतिभागी होने की बजह से हम ग्रुप A का परिणाम घोषित नहीं कर पाए। लेकिन हम दोनों छोटी बालिकाओं का अभिनंदन करते है उन्हे शुभकामनाएं देते है और उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना करते है।

प्रमाण पत्र

सभी प्रतिभागियों के प्रमाण पत्र अपलोड कर दिए गए है। आप नीचे दिए गए लिंक पर जा कर अपना प्रमाण पत्र download कर सकते हो।

Note : जिन प्रतिभागियों की कविताएं वार्षिक पत्रिका के लिए चुनी गई है कृपया अपनी कविता हिन्दी में टाइप करके Thriving Boost के official WhatsApp नंबर पर भेज दें।

फादर्स डे, कविता पाठन प्रतियोगिता

इस प्रतियोगिता का उद्देश्य जीवन में पिता के महत्व को उजागर करना है। एक पिता होना चुनौती पूर्ण हो सकता है, लेकिन उससे भी चुनौती भरा होता है, अपने जीवन में पिता को यह बताना कि वह उनकी जिंदगी में कितने महत्वपूर्ण है।

पिता अपने बच्चों के जीवन में जो योगदान देते हैं, उसे पहचानने के लिए दुनिया भर में फादर्स डे मनाया जाता है। इस साल यह 20 जून 2021 को है। इस उपलक्ष्य पर Thriving Boost  एक online कविता पाठन प्रतियोगिता का आयोजन करने जा रहा है। जिसमें आपको कविता पाठन करते हुए अपनी एक Video बनानी होगी।

फादर्स डे हिन्दी कविता पाठन प्रतियोगिता।

आप के पास नि:शुल्क मौका है नकद 2000 रुपये तक इनामी राशी, gift और प्रमाण पत्र जीतने का! आप सभी अपनी कविता पाठन वाली video हमें भेज कर इस प्रतियोगिता का हिस्सा बन सकते है। आप सिर्फ हिन्दी में कविता पाठन कर सकते हैं। विजेताओं को इनाम और प्रमाण पत्र दिए जाएंगे। विजेताओं के अलावा निर्णायक मण्डल 10 कविताएं चुनेगें जिन्हे Thriving Boost की बार्षिक पत्रिका में स्थान मिलेगा। 

प्रतियोगिता का उद्देश्य

इस प्रतियोगिता का उद्देश्य जीवन में पिता के महत्व को उजागर करना है।  एक पिता होना चुनौती पूर्ण हो सकता है, लेकिन उससे भी चुनौती भरा होता है, अपने जीवन में पिता को यह बताना कि वह उनकी जिंदगी में कितने महत्वपूर्ण है। हमारे जीवन में पिता के महत्व को वर्णित कर पाने के लिए  सही शब्द ढूँढना और भी ज्यादा मुश्किल हो सकता है।

बेशक, यह ये एक प्रतियोगिता है। लेकिन, मेरे ख्याल से ये आप लोगों के लिए एक मंच है, एक जरिया है। आपकी भावनाओं को पिता के सम्मुख रखने का।  आप दिल से कागज पर वो लिखने की कोशिश करना, जो आप सच में उनके लिए दिल के किसी कोने में रखते हो। जो बोलते हुए आपके क्या किसी के भी पापा गदगद हो जाएं। आज नहीं तो फिर कब बोलोगे। मौत का साया हर समय मंडरा रहा है।  ये प्रतियोगिता आपकी भावनाओं को शब्दों में पिरोने में मदद कर सकती हैं। जरा सोच के देखिए क्या इससे अच्छा Father’s Day गिफ्ट कुछ हो सकता है क्या? आपके पिता के लिए। तो आइए इस बार दिल से एक तोहफा पापा के लिए और हिन्दी कविता कोश का विस्तार करें।

Eligibility

इस प्रतियोगिता में कोई भी व्यक्ति, छात्र (पुरुष या महिला) भाग ले सकता है। यह ऑनलाइन कविता पाठन प्रतियोगिता दुनिया के किसी भी हिस्से से किसी भी आयु वर्ग के किसी भी प्रतिभागी के लिए खुली है।

Categories(श्रेणियाँ): उम्र के हिसाब से।

  • Age Group: 10 से 17 साल (Group A).
  • Age Group: 17 साल से ऊपर (Group B).

दिशा – निर्देश

अपनी कविता प्रस्तुत करने से पहले, कृपया सुनिश्चित करें कि आपने निम्नलिखित दिशानिर्देशों को पढ़ा है और उनका पालन किया है।

1. आपको अपनी स्वरचित कविता का पाठन करते हुए video बना कर हमें भेजनी है। आपकी भेजी गई video और कविता पहले कहीं प्रकाशित नहीं होनी चाहिए।

2. यह एक निःशुल्क प्रतियोगिता है। Video भेजने की अंतिम तिथि 19 जून 21 है। । परिणाम 27 जून 21 को घोषित किये जाएंगे।

3. प्रतियोगिता कोई लिंग प्रतिबंध या राष्ट्रीयता प्रतिबंध नहीं है, ये सभी के लिए खुली है।

4. कविता आपकी अपनी कृति होनी चाहिए। किसी दूसरे की चुराई गई कविता को भी रद्द कर दिया जाएगा। 

5. अशिष्ट, आपत्तिजनक या पूरी तरह से अनुचित भाषा वाली कविता स्वीकार नहीं की जाएगी।

6. सभी विजेताओं को ई-मेल, डाक और upi ID के माध्यम से नकदी, पुरस्कार और प्रमाण पत्र दिए जाएंगे। विजेताओं को फोन या ईमेल द्वारा संपर्क किया जाएगा और उनकी पहचान की पुष्टि की जाएगी। विजेताओं की पूरी सूची को Thriving Boost की आधिकारिक वेबसाइट पर पोस्ट कर दिया जाएगा।

7. कविता पाठन की भाषा हिन्दी रहेगी।

8. ध्यान रहे Video में Background Music अनिवार्य नहीं है।

9. विजेता कवियों, के नाम और अन्य संबंधी जानकारी Thriving Boost website और YouTube चैनल पर प्रकाशित की जाएगी।

10. प्रत्येक श्रेणी के परिणामों पर विचार करने के लिए न्यूनतम 25 प्रतिभागियों की आवश्यकता है। अन्यथा परिणाम घोषित नहीं किया जाएगा।

कविता पाठन की Video कैसे प्रस्तुत करें?

हमें ईमेल, और WhatsApp द्वारा अपनी कविता पाठन की Video भेजें:

  • ईमेल – thrivingboost@gmail.com
  • WhatsApp नंबर: – 8219115668

हमें क्या चाहिये?

1. आपकी कविता पाठन की Video साथ में आपके द्वारा लिखी गई कविता।

2. अगर आप ग्रुप – A के में भाग ले रहे हो तो आपको आयु पुष्टि के लिए अपने किसी आयु दस्तावेज की फोटो भी भेजनी होगी।  

3. आपकी व्यक्तिगत जानकारी जिसमें:

  • नाम(Name)
  • उम्र (Age)
  • पेशा(Your Profession)
  • डाक पता(Postal Address)
  • ईमेल आईडी(Email Id) या मोबाइल नंबर(Mobile No.)।

निर्णायक मण्डल

Thriving Boost के निर्णायक मण्डल मे व्यापक पृष्ठभूमि वाले लोग हैं। सभी न्यायाधीशों को कविता का व्यापक ज्ञान है।

प्रतियोगिता के समापन पर निर्णायक दौर का बहुमूल्य कार्य शुरू होता हैं। कृपया समझें, इस प्रतियोगिता का निर्णय करना हमारे लिए उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि यह आपके लिए। अंतिम परिणाम तैयार करने में  लगभग 3-4 दिन लगते हैं।

ग्रुप A और ग्रुप B दोनों में सर्वश्रेष्ठ 3, 3  कविताएँ पुरस्कृत की जाएंगी।

निर्णायक मण्डल का निर्णय अंतिम होगा।

यदि आप विजेता हैं, तो आपकी UPI Id, हम पहचान की पुष्टि के समय प्राप्त करेंगे।

जीत के मानदंड

  • आपकी video पर YouTube चैनल पर कम से कम 10 टिप्पणियों(Comments)  और 50 view के होने पर ही कविता मानदंड के तहत आएगी। अधिक टिप्पणियां आपको अंतिम परिणाम में लाभान्वित कर सकती हैं।
  • काव्य पाठन  तकनीक, प्रभावशीलता, शैली और रचनात्मकता ये जीत के मुख्य मानदंड है।
  • YouTube पर 3 सबसे ज्यादा views प्राप्त करने वाली 3 videos को Thriving Boost की तरफ से उपहार दिए जाएंगे। 

पुरस्कार

प्रथम –  800 रुपये और प्रमाण पत्र।

दूसरा – 400 रुपये और प्रमाण पत्र।

तीसरा –200 रुपये और प्रमाण पत्र।

ज्यादा Entries आने पर इनाम की राशी बड़ा दी जाएगी। 100 से ज्यादा Entries आने पर इनामी राशी दोगुनी और 150 पार करने पर तीन गुणा हो जाएगी।  

10 बेहतर कविताओं को Thriving Boost वार्षिक पत्रिका में स्थान मिलेगा, सभी प्रतिभागियों को ई-प्रमाण पत्र।

कॉपीराइट Note

सभी संकलित किए गए प्रकाशनों पर Thriving Boost का कॉपीराइट होगा। कविता लेखक की व्यक्तिगत संपत्ति हैं। Thriving Boost प्रविष्टियों को प्रकाशित करने के अधिकार को अपने पास रखता है।

2021 प्रतियोगिता कैलेंडर

टीम Thriving Boost 2021 मे बहुत सारी प्रतियोगिताओं का आयोजन करने जा रही है। जिनकी जानकारी आपको 2021 प्रतियोगिता कलेंडर मे मिल जाएगी।

2021 मे आयोजित होने वाली प्रतियोगिताएं।

टीम Thriving Boost 2021 मे बहुत सारी प्रतियोगिताओं का आयोजन करने जा रही है। ये एक पहल है हमारे साथियों के अंदर छिपे जज्बे को बाहर लाने की। भविष्य मे हम ऐसी बहुत सारी प्रतियोगिताओं का आयोजन बहुत बड़े स्तर पर करवाएंगे। जिससे हम अपने सभी साथियों को आगे आने का और हमारे साथ जुडने का मौका देंगे। ये काम हम जमीनी स्तर पे करेंगे जिससे समाज के उन सभी  वर्गों को अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर मिले, जिन्हे किसी भी मंच तक पहुंचना बहुत ही मुश्किल होता है।

हम आप सब से विनम्र निवेदन करते है कि, हमारा इस मुहिम मे साथ दें, इन प्रतियोगिताओं के बारे मे ज्यादा से ज्यादा लोगों को अवगत करवाएं। आपकी सफलता हमारी सफलता है, हम सब की सफलता है, भारत बर्ष की सफलता है। 

नीचे दिए गए कलेंडर मे आपको 2021 मे होने वाली सभी प्रतियोगिताओं की जानकारी मिल जाएगी। 

 

प्रतिभागी “मधु खोवाला”

हिन्दी कविता प्रतियोगिता की प्रतिभागी “मधु खोवाला” द्वारा रचित कविता “बड़ी दिलकश है चाय “। अगर आप मे भी है ऐसी प्रतिभा तो जल्दी से भाग ले और जीते धन राशी, उपहार साथ मे प्रमाण पत्र।

हिन्दी कविता प्रतियोगिता की प्रतिभागी "मधु खोवाला"

हिन्दी कविता प्रतियोगिता की प्रतिभागी "मधु खोवाला" द्वारा रचित कविता "बड़ी दिलकश है चाय"।
अगर आप भी अपनी प्रतिभा दिखाना चाहते है तो आपका स्वागत है। ये प्रतियोगिता निशुल्क है। विजेताओं को इनाम और गिफ्ट दिए जाएंगे। भाग लेने के लिए नीचे दिए गए बटन पे क्लिक करें।

बड़ी दिलकश है चाय

 

पूछा  किसी ने चाय के होते हैं कितने प्रकार, मैंने जवाब दिया- सैकड़ो ,हजार। दूध- वाली और लीकरवाली

तो अब पुरानी हो गई।

ग्रीन टी के कलेवर में फैले हैं आज   हजारो  फ्लेवर। थोड़ी सी  फेर बदल करके मार्केट में जाल सा छा गया है , जिसमें आम आदमी फॅस कर रह गया है। अपनी तो कुल्हड़ वाली चाय ही असली चाय है

जो मुझे है पसन्द।

  अग्नि परीक्षा में तपाई गई ,चूल्हें पर चढाई गई। पत्नी की मोहब्बत सरीखी पाक है चाय।

 कभी मीठी,कभी फीकी

कभी तीखी है चाय। तभी तो कहते हैं कुल्हड़ की चाय होती है- चरित्रवान। जिसके लिए पड़ोसी जाती है उसीको हो जाती है समर्पित ,

कुल्हड़ की चाय। किसी

  एक के होठों से लग कर रह जाती है चाय। बड़ी दिलकश, बड़ी

दिलरूबा, होती है चाय।

 

 

 

लेखक/ कवि – मधु खोवाला
उम्र –  60 yrs                      
 Profession: Homemaker
निवासी – बुध मार्ग, पटना    

प्रतिभागी “सविता माली “

हिन्दी कविता प्रतियोगिता की प्रतिभागी “सविता माली ” द्वारा रचित कविता “ठंडी हवा”। अगर आप मे भी है ऐसी प्रतिभा तो जल्दी से भाग ले और जीते धन राशी, उपहार साथ मे प्रमाण पत्र।

हिन्दी कविता प्रतियोगिता के प्रतिभागी "श्रीमती सविता माली "

हिन्दी कविता प्रतियोगिता के प्रतिभागी "श्रीमती सविता माली " द्वारा रचित कविता "ठंडी हवा "।
अगर आप भी अपनी प्रतिभा दिखाना चाहते है तो आपका स्वागत है। ये प्रतियोगिता निशुल्क है। विजेताओं को इनाम और गिफ्ट दिए जाएंगे। भाग लेने के लिए नीचे दिए गए बटन पे क्लिक करें।

*ठंडी हवा*

 

देखो जरा ! ठंडी हवा 

भी क्या मदमस्त होकर

 चल रही।

किसी का भी भय नहीं

 है जिसे।

चंचलता है स्वभाव

 जिसका।

कभी विशाल वृक्षों से 

गुपचुप बातें करती हैं,

तो कभी इठलाती हुई 

मेरे घर में टंगे पर्दों को 

छेड़ा करती हैं।

यह खुश भी आज

 बहुत है, 

लगता है जैसे नदी में

 गोते लगाकर आई है।

शीतलता से लिप्त है यह ।

 तभी तो तीक्ष्ण ग्रीष्म

 ऋतु में राहत  प्रदान कर 

रही ।

आज मुझसे भी बातें 

करने लगी है ये देखो।

कभी मेरे केशों के साथ

 क्रीडा कर रही ।

तो कभी मेरे छत पर टंगे 

कपड़ों को खुद के

 साथ उड़ा रही।

आकाश में उड़ रहे

 पतंगों को मानो और

 भी गति देर रही।

दे रही संदेश जैसे

 संघर्षों से थककर हार

 मारना ही जीवन नहीं।

कुछ भी हो , तू खुश रह ।

हार के बाद भी,

 तू फिर से उठ ,

नए जोश और उमंग

 के साथ।

खुद ही दे खुद को 

हौसला तू।

स्वतंत्रता और निर्भयता

 का पाठ 

पढ़ा रही यह देखो।

तभी तो मंदिर के छत पर 

लगे विशाल ध्वज को 

भी स्फूर्ति से लहरा 

रही।

देखो जरा! ठंडी हवा

 भी क्या मदमस्त होकर 

चल रही।

 

 

लेखक/ कवि  – श्रीमती सविता माली
निवासी – प्रयागराज                           

 

प्रतिभागी “दिलखुश धाकड़”

हिन्दी कविता प्रतियोगिता की प्रतिभागी “दिलखुश धाकड़” द्वारा रचित कविता “ठंड”। अगर आप मे भी है ऐसी प्रतिभा तो जल्दी से भाग ले और जीते धन राशी, उपहार साथ मे प्रमाण पत्र।

हिन्दी कविता प्रतियोगिता की प्रतिभागी "दिलखुश धाकड़"

हिन्दी कविता प्रतियोगिता की प्रतिभागी "दिलखुश धाकड़" द्वारा रचित कविता "ठंड"।
अगर आप भी अपनी प्रतिभा दिखाना चाहते है तो आपका स्वागत है। ये प्रतियोगिता निशुल्क है। विजेताओं को इनाम और गिफ्ट दिए जाएंगे। भाग लेने के लिए नीचे दिए गए बटन पे क्लिक करें।

 ठंड

भारत भूमि की ये एक विशेषता

इसको मिली है सभी तीनों ऋतुओं की श्रेष्ठता।

एक सर्द सुबह का,सुंदर सा नजारा।
घना सा कोहरा और मुँह से निकलता धुआँ।
ठिठुरता बदन,
सूर्य देव के आगमन की दुआ।
औस की बूँदों का टपकता पानी,
जीवन में नयी ऊर्जा भर देता है।

ठंड एक सर्द एहसास की याद दिलाती है,

मन में एक सिहरन सी दौड़ जाती है।

ठंड में दिल हिमालय की वादियों में खो जाता है,

रजाई की गर्मी और रसोई की खुशबू में डूब जाता है।

ठंड भारतीयों को देती है लुफ्त स्वाद का,

शरीर  को देती है एक मौका सुधार का।

परिवार को देती है मौका,

शाम को जल्द मुलाकात का ।

ठंड मां को देती है सुख,

क्रिसमस और दिवाली की छुट्टियों में,

सभी बिखरे परिवार को बुलाने का।

ठंड बच्चों को देती है मौका,

त्योहारों से मुलाकात का ।

खिलखिलाने का गुनगुनाने का,

कुछ और चटपटा से खाने का।।

ठंड कभी कहीं रूला भी देती है उन बेसहारों को,

जिन्हे जीना पड़ता है अभावों में सर्द रातों में ।

ठंड ले आती है

रबी की फसल का सुख,

दिवाली का सुकून

सीजन और

नए वर्ष का आह्वान।।

लेखक/ कवि  – दिलखुश धाकड़
उम्र   – ४२ वर्ष                             
पेशा – गृहिणी                             
निवासी – इंदौर( मध्य प्रदेश)       

प्रतिभागी “नमिता गुप्ता “

हिन्दी कविता प्रतियोगिता की प्रतिभागी “नमिता गुप्ता” द्वारा रचित कविता “तापस हुए पहाड”। अगर आप मे भी है ऐसी प्रतिभा तो जल्दी से भाग ले और जीते धन राशी, उपहार साथ मे प्रमाण पत्र।

हिन्दी कविता प्रतियोगिता के प्रतिभागी "नमिता गुप्ता "

हिन्दी कविता प्रतियोगिता की प्रतिभागी "नमिता गुप्ता " द्वारा रचित कविता "तापस हुए पहाड"।
अगर आप भी अपनी प्रतिभा दिखाना चाहते है तो आपका स्वागत है। ये प्रतियोगिता निशुल्क है। विजेताओं को इनाम और गिफ्ट दिए जाएंगे। भाग लेने के लिए नीचे दिए गए बटन पे क्लिक करें।

 तापस हुए पहाड

धुंध का मौसम हुआ, सूरज गया शर्माय ।
देखकर ठंडा अलाव,लिहाफ गया घबराय।।

पर्वत भी ध्यानस्थ हुए, नदियां हो गई मौन।
हरियाली भी हुई धवल,  बंसी बजाए कौन।।

सूरज की अपनी अकड़, सर्दी करे प्रहार।
हाड़ कंपाती ठंड ने, सबको किया बीमार ।।

सन्नाटा पसरा हुआ ,सड़के हुई विरान ।
हाथ बांधे जेब में, दुबके हुए मकान।।

दिन चूल्हे की आग सा, राते लंबी ताड़।
मौसम ने करवट बदली, तापस हुए पहाड़।।

शीत लहर चल रही, मौसम हो गया सर्द।
सहम घर में कैद हुए, क्या नारी क्या मर्द?

धूप गुनगुनी हो गई ,मौसम ने ली अंगड़ाई ।
खेतों ने ओढ़ी चुनर, छाई बसंत तरूणाई।।

 

लेखक/ कवि  – नमिता गुप्ता, 
उम्र – 55 बर्ष                           
     निवासी – त्रिवेणी नगर, लखनऊ

 

प्रतिभागी “आभा”

हिन्दी कविता प्रतियोगिता की प्रतिभागी “आभा” द्वारा रचित कविता “आज का दिन”। अगर आप मे भी है ऐसी प्रतिभा तो जल्दी से भाग ले और जीते धन राशी, उपहार साथ मे प्रमाण पत्र।

हिन्दी कविता प्रतियोगिता के प्रतिभागी "आभा"

हिन्दी कविता प्रतियोगिता की प्रतिभागी "आभा " द्वारा रचित कविता "आज का दिन "।
अगर आप भी अपनी प्रतिभा दिखाना चाहते है तो आपका स्वागत है। ये प्रतियोगिता निशुल्क है। विजेताओं को इनाम और गिफ्ट दिए जाएंगे। भाग लेने के लिए नीचे दिए गए बटन पे क्लिक करें।

‘आज का दिन’

 

कुहरा है,

आज धूप उदास है-

बचे खुचे सवालों के हल

ठंडी हवा के पास हैं।

 

पतझड़ की जुबां में

बूढ़े ज़र्द पत्ते आँगन में बैठे

आज बतिया रहे हैं

बर्फ़ हो रहे बदन में ये आदमी

गर्मी कहाँ से ला रहे हैं ?

जो सर्दी में भी इतरा रहे हैं !

 

क्या पता आज भी-,

कमरे में खामोश बैठे

झाँकते अलसाते लिहाफ़

खाली बैठे ताकेंगे दिन भर

बुझी हुई आँच का धुआँ !

राख हो चुकी होंगी

शाम तक

सूखे ठूंठों की जवानियाँ ।

 

 

लेखक/ कवि – आभा          
उम्र (Age) – 29 वर्ष            
              पेशा – भारतीय स्टेट बैंक में कार्यरत
   निवासी – रुड़की, उत्तराखंड